शर्मनाक: स्कूल के डायरेक्टर और शिक्षक ने मिलकर किया 12वीं क्लास की लड़की का रेप

इस देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पिछले कुछ साल से कई सवाल खड़े हो रहे हैं. आए दिन पेपर और टीवी पर हमें रेप और महिलाओं के साथ हो रहे यौन शोषण की खबरे सुनने को मिलती हैं. पहले तो महिलाएं घर के बाहर सुरक्षित नहीं रहती थी लेकिन अब कुछ दरिंदो की हैवानियत के चलते महिलाएं घर और स्कूलों में भी सुरक्षित नहीं हैं. हाल ही में राजस्थान के एक स्कूल में 6 साल की लड़की से गैंग रेप की वारदात सामने आई थी. अब ऐसी ही एक और खबर राजस्थान से ही आ रही हैं.

एक्स्ट्रा क्लास के बहाने डायरेक्टर और टीचर ने किया छात्रा का गैंगरेप

राजस्थान के सीकर जिले के एक स्कूल में वहीँ के डायरेक्टर (जगदीश यादव ) और शिक्षक (जगत सिंह गुर्जर) ने मिलकर 12वीं क्लास में पढ़ने वाली एक लड़की का सामूहिक बलात्कार किया हैं. यह हैवान लड़की को एक्स्ट्रा क्लास के बहाने स्कूल में रोके रखते थे और इस घिनोनी वारदात को अंजाम देते थे. इस तरह किसी को उन पर शक नहीं होता था.

धोखे से करवा दिया लड़की का गर्भपात 

इस पुरे मामले का खुलासा तब हुआ जब लड़की की तबियत बिगड़ने लगी और उसके माँ बाप ने उसे अस्पताल में भारती करवाया. इस बीच दोनों आरोपियों को जब लड़की के गर्भवती होने की बात पता चली तो उन्होंने  शाहपुरा के अस्पताल में सेटिंग कर पीड़िता का धोखे से गर्भपात करा डाला.

नीमका थाना के पुलिस उपाधीक्षक कुशाल सिंह के अनुसार लड़की ने पूछ ताछ में स्कूल के डायरेक्टर जगदीश यादव और शिक्षक जगत सिंह का नाम लिया हैं. पुलिस ने दोनों ही आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया हैं. इसके अलावा  लड़की की मर्ज़ी के बिना, गर्भपात करने के मामले में स्थानीय अस्पताल के डॉक्टर रजनीश शर्मा और उनकी पत्नी कनन शर्मा खिलाफ भी केस दर्ज किया है.

देश से रोजाना आती इन ख़बरों को देख देश के हर माबाप काफी चिंतित हैं. कभी स्कूल को मंदिर का दर्जा मिला करता था लेकिन आज यह जुर्म का ऐसा अड्डा बन गया है कि कब कौन सा बच्चा इसका शिकार बन जाए कुछ कहा नहीं जा सकता हैं. क्या आज की तारीख में बच्चों के लिए स्कूल सुरक्षित नहीं रह गए हैं? हमें इस बारे में गंभीरता से सोचने की आवश्यकता हैं.

Inderpreet Sharma