लड़कियों के अकेलेपन को इस आर्टिस्ट ने अपने ‘Illustrations’ से बखूबी दर्शाया है, आप खुद देखिए

अकेली लड़की खुली तिजोरी की तरह होती है, पता नहीं कब क्या हो जाए…।

आपने अगर ‘जब वी मेट’ मूवी देखी होगी तो दिमाग पर थोड़ा जोर डालने पर आपको ये डायलॉग जरूर याद आ जाएगा। फिल्म की बात तो छोड़िये लेकिन अकेली लड़की के बारे में ऐसी-ऐसी धारणाएँ बनाई जाती हैं कि अच्छे-खासे इंसान का दिमाग चकरा जाए।

वैसे कुछ भी कहिये अकेले रहने के भी अपने अलग ही मजे हैं। मन के मुताबिक जो चाहे वो करने की पूरी आजादी मिलती है। लेकिन समझ में नहीं आता कि अगर एक लड़की अकेली रहती है तो पूरे मोहल्ले की नजरें उसी पर क्यों टिक जाती हैं। और तो और बातें भी ऐसी होती हैं कि बेचारी लड़की कहे तो भी क्या कहे? “ओह 25 की हो गई अब तक शादी नहीं हुई।” और भी ना जाने क्या-क्या।

खैर, आज हम आपको बताने वाले हैं कि अकेले में लड़की अपना समय कैसे बिताती है। आप बस इन तस्वीरों को ध्यान से देखिएगा।

म्यूज़िक और मस्ती

म्यूज़िक और मस्ती 

‘Music is love’ सच में। शांत रहकर म्यूज़िक सुनने का मज़ा ही कुछ और है। अकेले में लड़कियां म्यूज़िक सुनती तो हैं, लेकिन साथ ही भरपूर क्रेजीनेस के साथ डांस भी करती हैं।

बेवहज की उदासी
बेवहज की उदासी अमूमन लड़कियों को मूड स्विंग्स होते हैं। ऐसे में जब वो अकेली होती हैं तो उदास महसूस करने लगती हैं और ऐसा होना भी आम बात है।

stalk करना
stalk करना 

इस बात से तो सभी लड़कियां ‘agree’ करेंगी कि कभी न कभी अकेले में उन्होंने अपने एक्स को स्टॉक (ताका-झांकी) जरूर किया होगा। मतलब ऐसा होता है यार, प्यार भुलाना कहाँ आसान है?

ये भी ट्राई करती हैं
ये भी ट्राई करती हैं अकेले में ज्यादातर गर्ल्स अपने पसंद के कपड़े जरूर ट्राई करती हैं। मान लीजिये शॉर्ट ड्रेसेस यदि घर के बाहर पहनना allowed नहीं है तो घर के अंदर तो पहना जा सकता है।

ये सीक्रेट है
ये सीक्रेट है 

इस विषय पर ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता। गर्ल्स क्या आप देख रही हैं? अब हम भला क्या कह सकते हैं, ये तो अार्टिस्ट के illustrations हैं। लेकिन हाँ, ऐसा भी होता है।

जैसे चाहे वैसे रहिए
जैसे चाहे वैसे रहिए ओहो, अपने तरीके से अपनी फेवरेट नॉवेल को पढ़ना। अपने तरीके से मतलब पढ़ने का तरीका तो वही होगा लेकिन फिर जैसे चाहे जैसे बैठकर-लेटकर इसे पढ़ना। आखिर देखने वाला है कौन? सो एन्जॉय।

ऐसा भी करती हैं
ऐसा भी करती हैं ज्यादातर लड़कियों का शौक होता है डायरी लिखने का। अकेले होने पर लड़कियां अपनी डायरी के पन्नों को पलटती हैं और कुछ नया लिखने की कोशिश भी करती हैं।

आराम की नींद
आराम की नींद ‘आराम की नींद’ आप अकेले हों और पूरे बेड पर आपका राज हो तो ऐसा लगता है जैसे सल्तनत हाथ लग गई हो। लड़कियों के साथ भी यही होता है। वो अकेले में आराम की नींद लेना पसंद करती हैं।

सुकून के कुछ पल
सुकून के कुछ पलहाय…सोचकर ही कितना सुकून मिला है। चाय की चुस्की और शांति के कुछ पल। अब भाई लड़कियां भी रोज-रोज की भागदौड़ से परेशान हो जाती हैं। ऐसे में सुकून के कुछ पल से बढ़कर क्या होगा।

मोबाइल से दोस्ती
मोबाइल से दोस्ती ओह हाँ, अकेले होने पर लड़कियों का सबसे बड़ा साथी मोबाइल होता है। जाहिर सी बात है कि इस समय कोई नहीं चिल्लाता कि मोबाइल रख दिया जाए।

Inderpreet Sharma